तरुण गुप्ता

My blogs

Blogs I follow

About me

Gender Male
Industry Student
Occupation student
Location दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली, India
Introduction पहले लगता था जिंदगी अगर बहुत आसान होती तो क्या बात होती. पर अब लगता है कि जैसी है अच्छी है. अब बिना स्ट्रगल के कुछ पाने में मज़ा भी नहीं आता या कहूं वो अहमियत नहीं रहती जो स्ट्रगल के बाद किसी चीज़ को पाने की होती है। बहरहाल अपने बारे में कहने से ज़्यादा दूसरो को सुनने में विश्वास रखता हूँ,दूसरो पर जल्दी विश्वास करना मेरी कमज़ोरी, किसी के अहसान और कृतघ्नता को जल्दी नहीं बिसरा पाता। कहानियाँ पढ़ने का शौक है पर यदि किसी कहानी की समीक्षा पहले दिख जाए तो रचना से पहले ही उसकी आलोचना पढ़ने से खुद को नहीं रोक पाता। साहित्य में विचारधारा की कट्टरता का विरोधी हूँ। प्रतिबद्धता का हामी होते हुए भी साहित्य में रचना की संवेदना और समकालीनता को तवज्जो देना ज़्यादा पसंद करता हूँ। दिल्ली यूनिवर्सिटी से 'मलयज और देवीशंकर अवस्थी की आलोचनादृष्टि का तुलनात्मक अध्ययन' विषय पर पीएच.डी कर रहा हूँ।
Interests पढ़ना-लिखना, टिप्पणी देना, संगीत सुनना
Favorite Movies श्री ४२०, सुजाता, अग्नि-पथ, अर्थ, सत्या, वो लम्हे, जाने भी दो यारों, बोर्न तो फाइट, .जो जीता वही सिकंदर, भेजा फ्राई, रंग दे बसंती, गुरु, तुम बिन, सिटी ऑफ गोल्ड, आदि
Favorite Music एस.पी.बालासुब्रमन्यम, खय्याम, ए.आर.रहमान, हेमंत कुमार, मुकेश, लता जी, कविता कृष्णमूर्ति, श्रेया घोषाल, एस.दी बर्मन, पंचम दा, गुलज़ार, अमित त्रिवेदी और भी बहुत सारे क्या-क्या कहूं
Favorite Books मदर(मैक्सिम गोर्की), भगत सिंह की जेल नोट बुक, गुनाहों का देवता, दीवार में एक खिड़की रहती थी, मलयज की डायरी और भी, खासकर वो जो मुझे कुछ अलग या कहूं प्रोग्रेसिव सोच दें