रेखा सिनहा

My blogs

About me

Gender FEMALE
Industry Communications or Media
Occupation journlist
Location लखनऊ, उत्तर प्रदेश, India
Introduction करीब से जानने समझने वाले मुझे y=mx+c(सीधी रेखा का समीकरण) कहते हैं लेकिन मैं इससे कम इतेफाक रखती हूँ दरअसल मैं इतनी भी सीधी नही हूँ. मेरे जीवन की गाड़ी कभी एक सीधी लीक पर नहीं चली. कभी मैं संकरी गलियों में चलती रही तो कभी उबड़-खाबड़ रास्तों की भूलभुलैया में भटकती रही. इन रास्तों ने मुझे खुद को तलाशने की राह दिखाई. आज भी मेरी यह तलाश जारी है. गाजीपुर और आजमगढ़ के एक्स और वाई क्रोमोसोम से बनी मैं लखनऊ की धरती पर इस संसार में आई. उत्तरप्रदेश के कई शहरों में रही. जब कुछ समझने लायक हुई तो खुद को बनारस में पाया. बनारस ने मुझे जीवन को देखने का नया नजरिया दिया. इस नजरिये ने मेरे आसपास की दुनिया को खुशियों से भर दिया. अपनी माँ से मुझे धैर्य और मजबूती मिली. पिता से जीवन को समझने-बूझने की शक्ति मिली. आज जहाँ तक पहुंची हूँ उसका श्रेय इन्हीं को है. यहाँ तक पहुँचने में अपने जीवन साथी पंकज का सहयोग और संबल मिला, उसके बिना शायद मेरी खुशियों को पाने की तलाश अधूरी ही रहती.आगे का सफ़र भी सुहाना रहे इसके लिए उन सभी का साथ चाहती हूँ जो मेरी ऊर्जा हैं. फिलहाल जीवन के सार को तलाशने-आत्मसात करने में जुटी हूँ. क्या आप मेरे साथ हैं?