Brajdeep Singh

My blogs

Blogs I follow

About me

Gender MALE
Industry Education
Location Jaipur , rajasthan, India
Introduction तन्हाईयों की राहों से तनहा निकलना चाहता हू ,हूँ उदास मगर खुश रहना चाहता हू देती हैं जिंदगी कदम कदम पे गम ,मैं उन गमो को पैमाने मैं पीना चाहते हू नहीं हैं मुझे मेरे कल पे भरोसा ,मैं अपने आज को पूरा जीना चाहता हू सोचता हू के होते मेरे भी मुक्कदर के शहर,फिर सोचता हूँ ये मैं क्या सोचे जा रहा हू कुरेदते हैं जो जख्मो को नुमाइश के लिए ,मैं उन जख्मो पर मरहम लगाना चाहता हूँ बदल दिया था मैंने अपने आप को इस ज़माने के लिए , मैं फिर अपने आप को पाना चाहता हूँ कहते हैं होगा वहीँ जो चाहता हैं खुदा ,मैं उस खुदा के मनसूबे जानना चाहता हू जिंदगी को जी रहा हू सर्कस बनाकर ,मैं इस जिंदगी के मायने जानना चाहता हूँ करना चाहता हूँ मैं भी समंदर को पार ,पर मैं समंदर को तैर कर जाना चाहता हूँ सभी नहीं होते हैं जहां मैं अपने दोस्तों ,मैं उन अपनों को पहचानना चाहता हूँ हैं मुझे भी मेरे हमसफ़र का इंतज़ार,पर पहले मैं उसे आज़माना चाहता हूँ जीने के होते हैं सबके अपने तरीके ,मैं उन तरीको को आजमाना चाहता हूँ शायद खाली रख दिया हैं रब ने पन्ना मेरी किस्मत का ,मैं उसे खुद लिख के जाना चाहता हूँ
Interests playing chess, watching movie, read novel, watching cricket and many more thing
Favorite Movies curious case of Benjamin buttons, heart locker, sarfarosh, gulami, and many old movie
Favorite Music Gazal, romantic songs
Favorite Books godaan, gaban, shikaar